TIME FOR NEWS | Current & Breaking News | National & World Updates, Breaking news and analysis from TIMEFORNEWS.IN. Politics, world news, photos, video, tech reviews, health,

Delhi Metro को अब लीज पर देने की तैयारी, नीति आयोग ने खाका तैयार कर सरकार को भेजा

BREAKING देश

नई दिल्ली : (PS) मेट्रो को दिल्ली एनसीआर का लाइफ लाइन कहा जाता है। फिलहाल देश में कोरोना संकट के कारण दिल्ली मेट्रो की आवाजाही बंद है। दिल्ली मेट्रो में भविष्य में कई देखने को मिल सकते है। इसी कड़ी में एक खबर यह भी आ रही है कि आने वाले वक्त में सरकार दिल्ली मेट्रो को लीज पर दे सकती है। इसको लेकर विचार-विमर्श शुरू हो गया है और इसका खाका नीति आयोग ने तैयार कर सरकार को भेज भी दिया है। दिल्ली मेट्रो को लीज पर देने के कारण सरकार को 39 हजार करोड़ रुपए से लेकर 80 हजार करोड़ रुपए तक का फायदा हो सकता है। नीति आयोग की तरफ से दिए गए सुझाव पर कितना अमल किया जाएगा इसको लेकर फैसला सरकार को ही करना है।

यह भी पढ़ें : बीती रात दिल्ली पुलिस के एक चौकी प्रभारी ने आत्मरक्षा में अपनी जान बचाने के लिए चलाई 2 राउंड गोली

अब तक दिल्ली मेट्रो के इंफ्रास्ट्रक्चर को पूरा करने के लिए 70000 करोड रुपए खर्च किए जा चुके है। अगर इसका नेटवर्क और भी विस्तार करना है तो सरकार को मोटी रकम भी खर्च करने पड़ेंगे। नीति आयोग ने सरकार को यह भी कहा है कि मेट्रो को लीज पर देने के बाद जो रकम मिलेगी जिससे लिए गए कर्ज की भरपाई हो पाएगी। फिलहाल खबरों के मुताबिक नीति आयोग ने 3 मॉडल तैयार किए है। इन 3 मॉडलों में एक मॉडल 20 साल के लिए है तो दूसरा 50 साल और तीसरा 99 साल के लिए। मॉडल नंबर 1 के तहत ट्रैक इंफ्रास्ट्रक्चर और ट्रेन है। 20 साल के लिए किसी प्राइवेट कंपनी को लीज पर दी जा सकती है। इसके बदले यात्री किराए, पार्किंग से आने वाली राशि और ट्रेनों में होने वाले विज्ञापनों से पैसा कमा सकते है। आयोग का मानना है कि इससे सरकार को लगभग 39000 से ज्यादा रुपए की मिल सकता है।

यह भी पढ़ें : दिल्ली के अस्पताल में हुई शवों की अदला-बदली, मइनुद्दीन के परिवार ने दफना दिया मोइनुद्दीन का शव

वहीं बात मॉडल नंबर दो कि की जाए तो इसके तहत स्टेशनों का कमर्शियल एरिया और कमर्शियल प्रॉपर्टी का अधिकार प्राइवेट कंपनी को दिया जा सकता है। प्राइवेट कंपनी को यह चीजें 50 साल के लिए दिया जा सकता है। इस मॉडल के तहत सरकार को लगभग ₹70000 मि हजार करोड़ मिलेंगे। वहीं, मॉडल नंबर 3 के तहत लीज 99 साल की होगी। इसके तहत सरकार प्राइवेट कंपनी से उसके मुनाफे के अनुसार कुछ हिस्सा ले भी सकेगी। इसके तहत सरकार को 80 हजार करोड़ से ज्यादा रुपए की आमदनी हो सकती है। हालांकि फिलहाल यह सिर्फ मसौदा तैयार किया गया है। इसको लेकर आखिरी फैसला केंद्र सरकार और कैबिनेट को करना है।

यह भी पढ़ें : हापुड़ : मामूली विवाद के चलते दिनदहाड़े युवक की हत्या उत्तर प्रदेश हापुड़

अगर इस प्रस्ताव को मंजूरी मिल भी जाती है तब मेट्रो एक्ट में भी बदलाव करने की जरूरत पड़ सकती है। यात्री से कितना किराया लिया जाए इसके लिए एक कमेटी तैयार की गई है। अगर मेट्रो को लीज पर दिया गया तो किराया सरकार तय करेगी या प्राइवेट कंपनी इसको लेकर पशोपेश की स्थिति बन सकती है। अगर अधिकार प्राइवेट कंपनी को दिया गया तो मेट्रो एक्ट में बदलाव की जरूरत पड़ेगी। अगर सरकार का यह प्रयोग दिल्ली में कामयाब होता है तो बाकी जगहों पर भी मेट्रो प्रोजेक्ट में सरकार इसी दिशा में बढ़ सकती है। देखना यह होगा कि क्या सरकार इस दिशा में जाती है और आगे की उसकी रणनीति क्या होती है?

यह भी पढ़ें : क्या आप के हांथ कांपते हैं बार-बार, तो 4 घरेलू नुस्खे दूर करेंगे आपकी यह समस्या

यह भी पढ़ें :  जानिए कैसा रहेगा आज आपका दिन, पढ़िए 11 जून का राशिफल

———————————————————————————————————–

टाईम फॉर न्यूज़ देश की प्रतिष्ठित और भरोसेमंद न्यूज़ पोर्टल timefornews.in की हिंदी वेबसाइट है। टाईम फॉर न्यूज़.इन में हम आपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mynews.tfn@gmail.com पर भेज सकते हैं या 9811645848 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।

टाईम फॉर न्यूज़ की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9811645848) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कांटेक्ट लिस्ट में सेव करें।

TIME FOR NEWS  पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूबफेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *