भारत में कोरोना संक्रमितों की संख्या 1 लाख www.timefornews.in

भारत में कोरोना संक्रमितों की संख्या 1 लाख 1 हजार के पार, अब तक 3,163 लोगों की मौत

देश

नई दिल्ली :  देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले मंगलवार को एक लाख के पार पहुंच गए जबकि संक्रमण के कारण मरने वालों की संख्या 3,163 पर पहुंच गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि देश में सोमवार सुबह आठ बजे से लेकर पिछले 24 घंटे में कुल 134 लोगों की मौत हुई और कोविड-19 के 4,970 मामले सामने आए। मंत्रालय ने बताया कि कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 1,01,139 हो गए हैं। इसने बताया कि 58,802 लोग अब भी संक्रमण की चपेट में हैं जबकि 39,173 लोग स्वस्थ हुए हैं और एक मरीज विदेश चला गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया, “अब तक 38.73 प्रतिशत मरीज ठीक हो चुके हैं।

ये भी पढ़े- गाज़ियाबाद के डासना में रिश्ते हुए तार-तार: चचेरे भाई ने बहन को मारी गोली

मंत्रालय ने बताया कि कुल मामलों में विदेशी नागरिक भी शामिल हैं। सोमवार सुबह से लेकर अब तक हुई 134 मौतों में, 51 महाराष्ट्र में, 35 गुजरात में, 14 उत्तर प्रदेश में, आठ दिल्ली में, सात राजस्थान में, छह पश्चिम बंगाल में, चार मध्य प्रदेश में, चार तमिलनाडु में तथा पंजाब और जम्मू-कश्मीर में दो-दो, बिहार और तेलंगाना में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है। देश में अब तक हुई कुल 3,163 मौतों में सबसे ज्यादा 1,249 मौतें महाराष्ट्र में हुई हैं। इसके बाद गुजरात में 694, मध्य प्रदेश में 252, पश्चिम बंगाल में 244, दिल्ली में 168, राजस्थान में 138, उत्तर प्रदेश में 118, तमिलनाडु में 81 और आंध्र प्रदेश में 50 लोगों की मौत हुई है।

ये भी पढ़े- 1 से 15 जुलाई के बीच होंगी 10वीं और 12वीं की शेष परीक्षाएं: CBSE Exams 2020

वहीं, कर्नाटक और पंजाब में मृतक संख्या 37-37 और तेलंगाना में 35 हो गई है। जम्मू-कश्मीर में बीमारी के कारण 15 लोगों की जान गई है। हरियाणा में 14 जबकि बिहार में नौ और केरल तथा ओडिशा में चार-चार लोगों की मौत हुई है। झारखंड, चंडीगढ़ और हिमाचल प्रदेश में तीन-तीन लोगों की जबकि असम में दो लोगों की मौत हुई है। मंत्रालय की ओर से साझा किए गए आंकड़ों के अनुसार मेघालय, उत्तराखंड और पुडुचेरी में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है। मंत्रालय की वेबसाइट के अनुसार, 70 प्रतिशत से अधिक मौतें मरीजों में पहले से मौजूद अन्य बीमारियों के चलते हुई हैं।

ये भी पढ़े- कड़ी धूप में बीच सड़क पर बैठकर अपने घर जाने का इंतजार करने को मजबूर