लॉक डाउन खुलने पर दिल्ली में DTC चालकों की हो सकती है किल्ल्त, जानिए पूरा मामला timefornews.in

लॉक डाउन खुलने पर दिल्ली में DTC चालकों की हो सकती है किल्ल्त, जानिए पूरा मामला

दिल्ली NCR

नई दिल्ली : दिल्ली परिवहन निगम (DTC) द्वारा 100 बस चालकों को राज्य के स्वास्थ्य मंत्रालय के अंतर्गत संचालित कैट्स एंबुलेस सेवा में अस्थायी रूप से तैनात करने के आदेश के बाद से ये 100 बसें डिपो में ही खड़ी रह रही हैं। इस कारण यात्रियों को कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है।

दिल्ली परिवहन मजदूर संघ (डीपीएमएस) के महामंत्री कैलाश चंद मलिक ने शुक्रवार को कहा कि लॉकडाउन में ढील के बाद दिल्ली की सड़कों पर डीटीसी की ज्यादा से ज्यादा बसों की जरूरत है। चालकों को फिर से कैट्स एम्बुलेंस सेवा में तैनात किया जा रहा है। इस कारण डीटीसी के पास चालकों की कमी हो रही है। इसके परिणामस्वरूप सड़कों पर बसों की संख्या कम होने से हर बस स्टैंड पर यात्रियों की भीड़ बढ़ने लगी है। इसके कारण बस स्टैंड पर कोरोना के मद्देनजर दो गज की दूरी का पालन कठिन हो गया है।
डीटीसी के एक विश्वस्त सूत्र का कहना है कि राज्य सरकार अभी और चालकों को कैट्स एम्बुलेंस सेवा के लिए भेजेगी। यह संख्या डेढ़ से दो सौ तक हो सकती है।

यह भी पढ़ें: केंद्र सरकार का बड़ा तोफा : आम आदमी को जल्द मिल सकती है टैक्स में बड़ी राहत

मलिक ने कहा कि लॉकडाउन के दूसरे और तीसरे चरण में डीटीसी बसों को सिर्फ आवश्यक परिवहन के लिए ही तैनात किया गया था। उस दौरान कैट एम्बुलेंस के चालकों के कोरोना संक्रमित होने के बाद राज्य सरकार ने डीटीसी के करीब 350 बस चालकों को कैट एम्बुलेंस की ड्यूटी पर तैनात किया था। वे सभी चालक अब वापस आ गए हैं। सरकार ने गुरुवार को 100 और चालकों को कैट एम्बुलेंस सेवा के लिए तैनात किया है। इसके कारण 100 बसें डिपो में ही खड़ी हैं। आज जब डीटीसी बसों की जरूरत ज्यादा से ज्यादा है, वहीं दूसरी ओर डीटीसी प्रबंधन अपने चालकों को कैट्स एम्बुलेंस चलाने के लिए भेज रहा है।

यह भी पढ़ें: दिल्ली यूनिवर्सिटी में एडमिशन के लिए आवेदन करने की आखिरी तारीख?

डीपीएमएस महामंत्री मलिक ने कहा कि जिस समय 350 चालकों को भेजा गया था उस दौरान डीटीसी की गाड़ियां रूट पर नहीं भेजी जा रही थीं, लेकिन लॉकडाउन में ढील के बाद अब डीटीसी की ज्यादा से ज्यादा बसों की जरूरत सड़कों पर है। उन्होंने कहा कि चालक की कमी से एक बस के डिपो से नहीं निकलने पर परिचालक और मार्शल दिनभर बेकार बैठे रहते हैं। उन्होंने डीटीसी प्रबंधन से मांग की है कि कैट्स में भेजे गए चालकों को वापस बुलाकर डीटीसी की बसों पर भेजा जाए, जिसकी आज जरूरत भी है।

यह भी पढ़ें: केंद्र सरकार का बड़ा तोफा : आम आदमी को जल्द मिल सकती है टैक्स में बड़ी राहत

यह भी पढ़ें: जानिए कैसा रहेगा आज आपका दिन, पढ़िए 30 मई का राशिफल

———————————————————————————————————–

टाईम फॉर न्यूज़ देश की प्रतिष्ठित और भरोसेमंद न्यूज़ पोर्टल timefornews.in की हिंदी वेबसाइट है। टाईम फॉर न्यूज़.इन में हम आपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mynews.tfn@gmail.com पर भेज सकते हैं या 9811645848 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।

टाईम फॉर न्यूज़ की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9811645848) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कांटेक्ट लिस्ट में सेव करें।

TIME FOR NEWS  पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूबफेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *