t5imefornews.in

समाचार चैनलों को पांच अगस्त को अयोध्या से कार्यक्रम के प्रसारण के लिए लेनी होगी अनुमति

BREAKING उत्तर प्रदेश

अयोध्या : अयोध्या जिला प्रशासन ने समाचार चैनलों से कहा है कि पांच अगस्त को राम मंदिर के लिए भूमि पूजन के दौरान यहां से वे चर्चा पर आधारित जो भी कार्यक्रम प्रसारित करेंगे उनमें अयोध्या भूमि विवाद मामले से जुड़ा कोई वादकारी (लिटिगेंट) शामिल नहीं होना चाहिए। प्रशासन ने एक परामर्श में यह भी कहा कि यदि भूमि पूजन कार्यक्रम के दौरान चैनल उत्तर प्रदेश के अयोध्या से किसी चर्चा या कार्यक्रम का प्रसारण कर रहे हैं तो उसमें किसी व्यक्ति या धर्म के खिलाफ कोई टिप्पणी नहीं होनी चाहिए।

इसे भी पढ़ें : जानिए कैसा रहेगा आज आपका दिन, पढ़िए 29 जुलाई का राशिफल

परामर्श के अनुसार समाचार चैनलों को कोई कार्यक्रम करने से पहले अनुमति लेनी होगी और प्राधिकारियों को एक शपथपत्र भी देना होगा। उप निदेशक, सूचना मुरलीधर सिंह ने कहा, ‘‘हमने समाचार चैनलों को एक परामर्श जारी किया है क्योंकि उन्हें कार्यक्रम आयोजित करने के लिए मजिस्ट्रेट से पूर्व अनुमति लेनी होगी, उन्हें सीमित संख्या में पैनलिस्ट की अनुमति होगी और किसी भी प्रसारण या रिकॉर्डिंग में दर्शक या जनता को शामिल होने की अनुमति नहीं होगी।

इसे भी पढ़ें : पंजाब सरकार ऑनलाइन क्लास के लिए छात्राओं को देगी 50 हजार स्मार्टफोन

उन्होंने कहा कि कार्यक्रम में एक मजिस्ट्रेट और पुलिस की तैनात की जाएगी और पैनलिस्ट और न्यूज चैनल के कर्मचारियों को कोविड-19 प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन करना होगा। सिंह ने कहा कि समाचार चैनलों को यह सुनिश्चित करना होगा कि किसी भी धर्म या व्यक्ति के खिलाफ कोई टिप्पणी न की जाए और अयोध्या विवाद मामले के किसी भी पक्ष को आमंत्रित न किया जाए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पांच अगस्त को भूमि पूजन कार्यक्रम में शामिल होने की संभावना है। राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद स्वामित्व मामले में फैसला उच्चतम न्यायालय ने पिछले वर्ष नौ नवम्बर को सुनाया था।

इसे भी पढ़ें : Delhi Metro : कोरोना महामारी के चलते दिल्ली मेट्रो का बुरा हाल, पहली बार किस्त देने में असमर्थ

शीर्ष अदालत ने अपने फैसले में कहा था कि अयोध्या में विवादित भूमि की 2.77 एकड़ जमीन रामलला को सौंपी जानी चाहिए, जो तीन वादियों में से एक थे। उसने केंद्र को उत्तर प्रदेश के पवित्र शहर में प्रमुख स्थान पर एक नयी मस्जिद के निर्माण के लिए सुन्नी वक्फ बोर्ड को वैकल्पिक पांच एकड़ जमीन आवंटित करने का भी निर्देश दिया था। भूमि पूजन से पहले, राम मंदिर ट्रस्ट ने भक्तों से अपील जारी करते हुए उनसे चांदी की ईंटे दान नहीं करने के लिए कहा।

इसे भी पढ़ें : पाकिस्तानी ने दी धमकी : पाकिस्तानी सेना प्रमुख बोले, उकसाया गया तो पूरी ताकत से देंगे जवाब

उसने कहा कि ट्रस्ट के पास न तो उन्हें रखने के लिए उचित जगह है और न ही चांदी की ईंटों की शुद्धता की जांच करने के लिए उपकरण और सुविधाएं। राम मंदिर ट्रस्ट के सचिव चंपत राय ने कहा कि बड़ी संख्या में भक्त राम मंदिर के लिए चांदी की ईंटें दान कर रहे हैं और इससे ट्रस्ट के लिए मुश्किलें खड़ी हो गई हैं कि वह उन्हें कहां रखे। उन्होंने कहा कि अब तक ट्रस्ट को एक क्विंटल से अधिक चांदी और अन्य धातुओं की ईंटें दान की गई हैं। राय ने भक्तों से कहा कि अगर वे दान करना चाहते हैं, तो उन्हें बैंक जमा के माध्यम से धन दान करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें : दिल्ली के रोहणी जेल परिसर में सीआरपीएफ जवान ने छत से कूद कर आत्महत्या की

रामलला की मूर्ति को भूमि पूजन के दिन एक नयी नवरत्न पोशाक पहनायी जाएगी। पोशाक में नौ मणि रत्न जड़ित होंगे और इसकी सिलाई यहां की जा रही है। रामदल के अध्यक्ष पंडित कल्किराम मूर्ति को विशेष पोशाक भेंट करेंगे। पोशाक की सिलाई करने वाले दर्जी भागवत पहाड़ी ने कहा, यह मेरे लिए सौभाग्य की बात है कि मुझे यह महान काम दिया गया है, मैं निश्चित रूप से ऐसी पोशाक तैयार करूंगा जो अपने आप में ऐतिहासिक होगी। उन्होंने कहा, ‘‘हम पीढ़ियों से रामलला के लिए कपड़े सिल रहे हैं।

इसे भी पढ़ें : दिल्ली : होटल और गेस्ट हाउस खोलने को मालिकों की सरकार से गुहार

स्टूडेंट्स टाईम फॉर न्यूज़ पर सबसे पहले नतीजे चेक कर सकते हैं। दिए टाईम फॉर न्यूज़ लिंक पर क्लिक करें और मध्य प्रदेश बोर्ड 10वीं का रिजल्ट 2020 चेक करें।

 

इसे भी पढ़ें : चीनी निवेश की वजह से Paytm का भी हो सकता है बहिष्कार, Mobikwik के समर्थन में आए लोग  

———————————————————————————————————–

टाईम फॉर न्यूज़ देश की प्रतिष्ठित और भरोसेमंद न्यूज़ पोर्टल timefornews.in की हिंदी वेबसाइट है। टाईम फॉर न्यूज़.इन में हम आपकी राय और सुझावों की कद्र करते हैं। आप अपनी राय, सुझाव और ख़बरें हमें mynews.tfn@gmail.com पर भेज सकते हैं या 9811645848 पर संपर्क कर सकते हैं। आप हमें हमारे फेसबुक पेज पर भी फॉलो कर सकते हैं।

टाईम फॉर न्यूज़ की नवीनतम खबरें अब आपको हमारे नए वॉट्सऐप नंबर (9811645848) से मिलेंगी। हमारी इस सेवा को सुचारु रूप से जारी रखने के लिए इस नंबर को आप अपनी कांटेक्ट लिस्ट में सेव करें।

TIME FOR NEWS  पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूबफेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *